चार दिन में एक बार हो रहा जल सप्लाय,पर्याप्त जल व्यवस्था फिर भी जिम्मेरदार देते है टाल

0 1,426
ad

 

 

चार दिन में एक बार हो रहा जल सप्लाय,पर्याप्त जल व्यवस्था फिर भी जिम्मेरदार देते है टाल

जल मूल्य प्रतिमाह 115 वसूले जा रहे फिर भी व्यवस्था सुचारू नही

समय पर जल मूल्य जमा नही तो वसूली जाती है पेनल्टी,अब समय पर जल सप्लाय नही तो क्या माफ होगी पेनल्टी

अलीराजपुर-नगरपालिका परिषद द्वारा नगर में जल सप्लाय चार दिन में एक बार वो भी सिर्फ 30 मिनट दिया जाता है । जबकि नगर में फाटा डैम से जल सप्लाय होता और वहाँ पर्याप्त मात्रा में जल भी उपलब्ध है । ऐसे में जब नगरपालिका के जल सप्लाय के इंचार्ज गणेश किराड से पूछा गया तो उन्होंने कभी लाईट बन्द है तो कभी पेड़ गिरने से तार टूट गए है कभी पाईप लाईन लीकेज है कहकर टाल दिया। अब ऐसे में नगरवासियों का सवाल यह है कि नगरपालिका द्वारा 115 रु प्रतिमाह जल मुल्य लिया जाता है तो फिर जल सप्लाय एक दिन छोड़कर देने की बजाय चार दीन में एक बार क्यों । स्थानीय लोगो का कहना है कि अगर जल मुल्य समय पर नही भरा जाता है तो पेनल्टी के साथ वसूला जाता है तो फिर जब चार दिन में जल सप्लाय हो रहा है तो जल मुल्य में भी छूट होनी चाहिए। जब से अलीराजपुर नगर की जल व्यवस्था फाटा डैम से की गई है तब से ही नगरपालिका द्वारा एक दिन छोड़कर जल सप्लाय किया तय किया गया था। गर्मी के मौसम में पानी का उपयोग अन्य मौसम के मुकाबले अधिक होता है और फिर ऐसे में चार दिन में पानी मिलने से आमजन परेशान होता है। हमारे प्रतिनिधि द्वारा जब जनता से चर्चा की गई तो सभी का नगरपालिका से यही सवाल है कि अगर जल मुल्य समय पर वसूल किया जा रहा है तो इसका उपयोग कहा हो रहा है।

टेंकर से पानी बेचा जा रहा है

आपको बता दें एक और नगर पालिका कर्मचारी पानी न होने टंकी नहीं भराने लाईट नहीं होने का बहाना कर रहे हैं वहीं नगर में बर्फ फैक्ट्री में डेली 3 से 4 टैंकर पानी बेचकर कोनसा लाभ कमा रहे हैं समझ के परे है नगरवासियों को पानी उपलब्ध कराने में नगरपालिका अलीराजपुर नाकाम साबित हो रही है वहीं नगर में किमत लेकर टैंकर बेचे जा रहे हैं।

किट नाशक दवाई छिड़काव भी नहीं

नगरपालिका अलीराजपुर नगर में मच्छरों के प्रकोप को रोकने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है ना ही नगर में दवाई का छिड़काव हो रहा है जब की कहीं महीनों से नगर में दवाई का छिड़काव नहीं हुआ है जब की दवाई खरीदी के बिल लग रहे हैं और समय समय पर पास भी हो रहे हैं मगर पैसे ठेकेदार और नगरपालिका कर्मचारी डकार रहे हैं।

कचरा वाहन भी समय पर नहीं चलते

नगर में कचरा वाहन भी समय पर नहीं आते कभी दिन में तो कभी सुबह तो कभी शाम आखिर परेशान होकर नगरवासी कचरा खुले में फेंक देते हैं जिससे नगर में गंदगी फैली हुई है।

 

वर्जन

पानी की समस्या लगातार पुरे नगर मे विभिन्न वार्डों में ज्यादा है जिसकी शिकायत शान्ति समिति व नगर सुरक्षा समिति में उठी है मगर नगरपालिका के जिम्मेदार अधिकारी ना ही पानी की समस्या ना ही साफ सफाई पर जोर दे रहे और कहीं बार फोन करने पर भी नगरपालिका अधिकारी फोन नहीं उठाते है ना ही कोई समय नहीं जब मर्जी होती है नल आते हैं अभी तो कुछ माह से 4 दिन में भी जल प्रदाय हो रहा है और पानी भी बगैर फिल्टर के बदबुदार और पीला पानी आ रहा है सफाई की बात करें दो नगर की हालात खराब है स्वच्छता में नगर को नम्बर वन पर लाने की बात कर रहे हैं खुद नगर पालिका नहीं चाहती नगर को स्वच्छ रखना।

सैयद हनीफ कादरी, प्रभारी शहर काजी अलीराजपुर

 

वर्जन

अलीराजपुर वार्ड 12 में सौतेला व्यवहार किया जा रहा है एक महीने से पहले सफाई नहीं होती ना ही नालियों की सफाई होती है शिकायत भी कर कर के परेशान हो गये है नल 4 दिन में एक बार आता है वो भी कोई निर्धारित समय नहीं है कभी सुबह छः बजे तो कभी शाम पांच बजे सड़कों पर गड्ढे हो गये है मगर कोई सुनने वाला नहीं है बस वोट लेने के लिए आते हैं समस्या सुनने कोई नहीं आता कल वार्ड 12 के कुछ लोगों को लेकर सी एम हेल्प लाइन का सहारा लेना पडेगा।

साजीद मकरानी 4u मेन्स वियर रहवासी वार्ड क्रमांक 12

Leave A Reply

Your email address will not be published.

जहरीली ताड़ी पीने से पांच लोगो की हालत बिगड़ी,चार महिला एक पुरुष शामिल-जामा मस्जिद चुनाव कमेटी ने किया हज यात्रियों का सम्मान।-लोकसभा चुनाव के मद्देनजर निष्पक्ष एवं निर्भीक मतदान कराने हेतु चांदपुर पुलिस ने निकाला डॉमिनेशन मार्च-हज यात्रियों के लिए टीका व प्रशिक्षण केम्प,जाने कब और कहा पर सिर्फ एक क्लिक में--अवैध शराब के विरुद्ध पुलिस की कार्यवाही करीब पांच लाख की शराब की जप्त।--पुलिस को मिली बड़ी सफलता, छापामार कार्यवाही के दौरान 7 लाख की अवैध शराब जप्त-कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने ईद की तैयारी को लेकर ईदगाह का किया निरीक्षण, व्यवस्था व सुरक्षा को लेकर लिया जायजा।-बिजली विभाग कर रहा है बडे हादसे का इंतजार कही छतिग्रस्त खंम्बे तो कही लटके हुए तार