जिले में पांच स्थानों पर पारंपरिक भगोरिया नृत्य प्रतियोगिता का आयेाजन होगा

0 395
ad

जिले में पांच स्थानों पर पारंपरिक भगोरिया नृत्य प्रतियोगिता का आयेाजन होगा

प्रथम 10 हजार, द्वितीय 5 हजार एवं तृतीय 3 हजार रूपये पुरस्कार मिलेगा

मथवाड, बरझर, जोबट, छकतला एवं बखतगढ में पारंपरिक भगोरिया नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन होगा

अलीराजपुर, – अलीराजपुर जिले में 1 से 7 मार्च तक भगोरिया मेले आयोजित होंगे। भगोरिया मेले में सुरक्षा और प्रबंधों को लेकर प्रषासन एवं पुलिस द्वारा व्यापक प्रबंध किये गए है। महिला सुरक्षा को लेकर विशेष ध्यान दिया जाएगा। वही भगोरिया मेले में विभिन्न स्थानों पर भगोरिया नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन रखा गया है। इसमें 1 मार्च को मथवाड एवं बरझर, 2 मार्च को जोबट, 5 मार्च को छकतला एवं 7 मार्च को बखतगढ में भगोरिया नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन होगा। उक्त प्रतियोगिता में प्रथम 10 हजार, द्वितीय 5 हजार एवं तृतीय 3 हजार रूपये इनाम के रूप में प्रदान किये जाएंगे। उक्त भगोरिया पारंपरिक नृत्य प्रतियोगिता के आयोजन स्थल को लेकर कलेक्टर राघवेन्द्र सिंह ने निर्देष दिए है कि नृत्य प्रतियोगिता स्थल पर शामियाना, बैठक व्यवस्था, बैरिकेटिंग, पेयजल की व्यवस्था, अतिथिगण की बैठक व्यवस्था आदि के प्रबंध किये जाए। उन्होंने पारंपरिक भगोरिया नृत्य प्रतियोगिता को देश विशेष में पर्यटन के क्षेत्र में विशेष पहचान दिलाने के प्रयासों के तहत विशेष प्रयास करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर श्री सिंह ने जिले के विभिन्न पारपंरिक भगोरिया नृत्य करने वाले दलों से प्रतियोगिता में सहभागिता का आह्वान किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

जहरीली ताड़ी पीने से पांच लोगो की हालत बिगड़ी,चार महिला एक पुरुष शामिल-जामा मस्जिद चुनाव कमेटी ने किया हज यात्रियों का सम्मान।-लोकसभा चुनाव के मद्देनजर निष्पक्ष एवं निर्भीक मतदान कराने हेतु चांदपुर पुलिस ने निकाला डॉमिनेशन मार्च-हज यात्रियों के लिए टीका व प्रशिक्षण केम्प,जाने कब और कहा पर सिर्फ एक क्लिक में--अवैध शराब के विरुद्ध पुलिस की कार्यवाही करीब पांच लाख की शराब की जप्त।--पुलिस को मिली बड़ी सफलता, छापामार कार्यवाही के दौरान 7 लाख की अवैध शराब जप्त-कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने ईद की तैयारी को लेकर ईदगाह का किया निरीक्षण, व्यवस्था व सुरक्षा को लेकर लिया जायजा।-बिजली विभाग कर रहा है बडे हादसे का इंतजार कही छतिग्रस्त खंम्बे तो कही लटके हुए तार