जाने कहां हुआ विधायक के पद का अपमान आमंत्रण पत्र से नदारत हुआ विधायक का नाम, क्या है मामला देखे।

0 273
ad

जाने कहां हुआ विधायक के पद का अपमान आमंत्रण पत्र से नदारत हुआ विधायक का नाम, क्या है मामला देखे।

 

✍️अभीषेक गुप्ता की खास रिपोर्ट✍️

 

आलीराजपुर मध्यप्रदेश मे भाजपा की सरकार है ओर भाजपा के शासन में अधिकारीयो के द्वारा पोर्टोकाल के नियम की धज्जिया किस प्रकार उड़ाई जा रही है ये देखने को मिला।

आलीराजपुर जिले की जोबट विधानसभा क्षेत्र के शहीद चन्द्रशेखर आजाद मे जहा शासकीय उत्कृष्ट उ मा विद्यालय में वार्षिकोत्सव कार्यक्रम के दौरान जो आमंत्रण पत्र शिक्षा विभाग के द्वारा छपवाये गये उसमे जोबट की वर्तमान भाजपा विधायक सुलोचना रावत या उनके प्रतिनिधि का नाम उस आमंत्रण पत्र से नदारत मिला । कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि जोबट के पूर्व विधायक ओर सासंद प्रतिनिधि माधोसिंह डावर को बनाया गया ओर कार्यक्रम की अध्यक्षता मे जिले के कलेक्टर राघवेन्द्र सिंह का नाम ओर विशेष अतिथि मे नगर परिषद के उपाध्यक्ष नारायण अरोडा का नाम आमंत्रण पत्र में छपवाया गया। लेकिन जिस विधानसभा क्षेत्र मे जनता ने विधायक को चूना उसी विधानसभा क्षेत्र मे विधायक पद की गरिमा की धज्जिया शिक्षा विभाग के अधिकारीयो ने उडाई जोबट की विधायक सुलोचना रावत के नाम को आमंत्रण पत्र मे जगह नही दी गयी जबकी नियम अनुसार पोर्टोकाल के तहत विधायक का नाम पहले आना था अगर विधायक मौजूद नही है तो उनके प्रतिनिधि उस कार्यक्रम का हिस्सा बनते मगर शिक्षा विभाग ने विधायक के नाम तक को आमंत्रण में जगह नही दी जबकी जिले के कलेक्टर साहब उस स्कूल मे कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे है तो क्या कलेक्टर साहब के सज्ञान मे ये आमंत्रण पत्र नही होगा उन्हे भी कार्यक्रम मे आने का निमंत्रण शिक्षा विभाग ने दिया होगा तो क्या कलेक्टर साहब की निगाह इस आमंत्रण पत्र पर नही पडी होगी आखिर जिले का प्रशासनिक अमला भाजपा विधायक का ऐसा अपमान कैसे कर सकता है आपको बता दे की पूर्व की काग्रेस सरकार के दौरान आजाद नगर मे शहीद चन्द्रशेखर आजाद के बलिदान दिवस के दिन आमंत्रण पत्र छपवाये गये थे उसमे नगर परिषद की अध्यक्ष निर्मला डावर का नाम नही लिखवाया था तब सांसद गुमान सिंह डामोर ओर भाजपा नेताओ ने तत्कालीन कलेक्टर मेडम को खूब खरी खोटी सुनाई थी लेकिन आज जब भाजपा की ही मोजूदा विधायक सुलोचना रावत के नाम को आमंत्रण पत्र पर जगह नही मिली अब भाजपा नेता चुप क्यों है ये सोचने वाली बात है वही आजाद नगर के जनपद अध्यक्ष इंदर सिंह डावर के नाम को भी आमंत्रण पत्र में जगह नही दी गयी उनका नाम भी पेन से लिख दिया गया जबकी पोर्टो काल के तहत नगर परिषद अध्यक्ष के बाद जनपद पंचायत अध्यक्ष का नाम आमंत्रण पत्र मे छपवाना था लेकिन ऐसा नही हुआ अब देखना होगा की जिले के कलेक्टर राघवेन्द्र सिंह आजाद नगर मे शिक्षा विभाग के द्वारा जोबट विधायक का जो अपमान किया उसमे क्या कार्यवाही करते है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

जहरीली ताड़ी पीने से पांच लोगो की हालत बिगड़ी,चार महिला एक पुरुष शामिल-जामा मस्जिद चुनाव कमेटी ने किया हज यात्रियों का सम्मान।-लोकसभा चुनाव के मद्देनजर निष्पक्ष एवं निर्भीक मतदान कराने हेतु चांदपुर पुलिस ने निकाला डॉमिनेशन मार्च-हज यात्रियों के लिए टीका व प्रशिक्षण केम्प,जाने कब और कहा पर सिर्फ एक क्लिक में--अवैध शराब के विरुद्ध पुलिस की कार्यवाही करीब पांच लाख की शराब की जप्त।--पुलिस को मिली बड़ी सफलता, छापामार कार्यवाही के दौरान 7 लाख की अवैध शराब जप्त-कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने ईद की तैयारी को लेकर ईदगाह का किया निरीक्षण, व्यवस्था व सुरक्षा को लेकर लिया जायजा।-बिजली विभाग कर रहा है बडे हादसे का इंतजार कही छतिग्रस्त खंम्बे तो कही लटके हुए तार