कॉमनवेल्थ गेम्स का नौवां दिन:रवि दहिया ने भारत को दिलाया 10वां गोल्ड, नाइजीरिया के पहलवान वेल्सन को 10-0 से दी मात; पूजा गहलोत को ब्रॉन्ज

0 87
ad

बर्मिंघम कॉमेनवेल्थ गेम्स में नौवें दिन के मुकाबले चल रहे हैं। भारतीय पहलवान मेडल राउंड का मुकाबला खेलने उतर गए हैं। पहलवान रवि दहिया ने भारत के लिए 10वां गोल्ड मेडल जीत लिया है। उन्होंने 57 KG वेट कैटेगरी में नाइजीरिया के पहलवान ई वेल्सन को फाइनल मुकाबले में 10-0 से हराया। ये कुश्ती में भारत का चौथा गोल्ड मेडल है। इससे पहले रवि ने पाकिस्तान के असद अली को हराकर फाइनल में जगह बनाई थी। उन्होंने 14-4 से मुकाबला जीता था। वहीं, रवि ने 1 मिनट 14 सेकंड में न्यूजीलैंड के पहलवान सूरज को 10-0 से हराकर क्वार्टर फाइनल मैच जीता था।

पूजा गहलोत ने 50 KG वेट कैटेगरी में ब्रॉन्ज मेडल जीता है। उन्होंने स्कॉटलैंड की क्रिस्टिले लेमोफैक को 12-2 से हराया। इसी के साथ भारत के 31 मेडल हो गए हैं।

विनेश फोगाट विमेंस 50 KG में गोल्ड जीतने के काफी करीब हैं। विनेश की कैटेगरी में नॉर्डिक सिस्टम से मुकाबले हो रहे हैं। इसमें एक पहलवान को अपनी वेट कैटेगरी में मौजूद सभी प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ खेलना होता है और नंबर-1 पर रहने वाले पहलवान को गोल्ड मिलता है। विनेश अब तक अपने सभी मुकाबले जीत चुकी हैं। उनका आखिरी मुकाबला श्रीलंका की चमुंडया केसानी से होगी। नॉर्डिक सिस्टम तब लागू किया जाता है जब किसी वेट कैटेगरी में 6 पहलवान नहीं होते हैं।

जैस्मिन ने बॉक्सिंग में जीता ब्रॉन्ज

दूसरी ओर जैस्मिन ने बॉक्सिंग में भारत को पहला मेडल दिलाया है। विमेंस बॉक्सिंग की 60 KG वेट कैटेगरी में जैस्मिन को इंग्लैंड की गेमा पैज रिचर्डसन के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा है। उन्हें ब्रॉन्ज मेडल से संतोष करना पड़ा। भारत की स्टार मुक्केबाज और मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन निखत जरीन 50 KG वेट कैटेगरी के फाइनल में पहुंच गई हैं। उन्होंने इंग्लैंड की सवन्ना अल्फिया को 5-0 से हराकर गोल्ड मेडल मैच में जगह बना ली है।

पीवी सिंधु ने शानदार प्रदर्शन करते हुए पहला गेम हारने के बावजूद मुकाबला जीत लिया।
पीवी सिंधु ने शानदार प्रदर्शन करते हुए पहला गेम हारने के बावजूद मुकाबला जीत लिया।

पीवी सिंधु सेमीफाइनल में पहुंचीं
भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु विमेन सिंगल्स के सेमीफाइनल में पहुंच गईं हैं। उन्होंने मलेशिया की जिन वी को 19-21, 21-14, 21-18 से हराया। सिंधु अपना पहला गेम हार गई थीं, लेकिन उसके बाद उन्होंने जोरदार वापसी करते हुए मुकाबला जीता।

टेबल टेनिस: भारत का एक और मेडल पक्का
टेबल टेनिस में भारत का एक और मेडल पक्का हो गया है। शरत कमल और साथियां गुणज्ञानशेखरन की जोड़ी ने ऑस्ट्रेलिया के निकोलस लूम और फिन लू की जोड़ी को 8-11, 11-9, 10-12, 11-1, 11-8 से हराकर फाइनल में जगह बनाई।

  • प्रियंका गोस्वामी ने भारत के लिए दिन का पहला मेडल जीता है। उन्होंने विमेंस 10 हजार मीटर वॉक रेस में सिल्वर मेडल अपने नाम किया। प्रियंका ने 43.38 मिनट में अपनी रेस पूरी की। ऑस्ट्रेलिया की जेमिमा ने 42.34 मिनट का समय निकालकर गोल्ड अपने नाम किया। वहीं, केन्या की एमिली 43.50.86 मिनट में रेस पूरी कर तीसरे स्थान पर रहीं।
  • दिन का दूसरा मेडल पुरुषों की 3000 मीटर स्टीपलचेज में अविनाश साबले ने जीता। उन्होंने भी सिल्वर मेडल अपने नाम किया। अविनाश ने अपनी रेस 8.11.20 मिनट में खत्म की। इसके साथ ही उन्होंने तीन हजार मीटर रेस में नया नेशनल रिकॉर्ड भी बनाया। अविनाश गोल्ड जीतने वाले केन्या के अब्राहम किबिवॉट से 0.5 सेकेंड पीछे रहे।

बॉक्सिंग: अमित, प्रियंक नीतू ने अपने मुकाबले जीते
अमित पंघाल ने बॉक्सिंग के मेंस 51Kg वेट कैटेगरी में जाम्बिया के पैट्रिक चिनेयम्बा को 5-0 से हरा दिया है। इसी के साथ उन्होंने फाइनल में जगह बनाते हुए भारत के लिए एक और मेडल पक्का कर लिया है। वहीं, नीतू बॉक्सिंग के 48Kg वेट कैटेगरी में कनाडाई प्रियंका ढिल्लन के खिलाफ सेमीफाइनल जीत गई हैं। नीतू ने कनाडाई बॉक्सर को 5-0 से हराया है।

भारत के लिए मेडल जीतने वाले खिलाड़ी

9 गोल्ड: मीराबाई चानू, जेरेमी लालरिनुंगा, अंचिता शेउली, महिला लॉन बॉल्स टीम, टेबल टेनिस पुरुष टीम, सुधीर (पावर लिफ्टिंग), बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक, दीपक पूनिया।

11 सिल्वर: पुरुष लॉन बॉल्स टीम, संकेत सरगरी, बिंदियारानी देवी, सुशीला देवी, विकास ठाकुर, भारतीय बैडमिंटन टीम, तूलिका मान, मुरली श्रीशंकर, अंशु मलिक, प्रियंका, अविनाश साबले।

11 ब्रॉन्ज: गुरुराजा पुजारी, विजय कुमार यादव, हरजिंदर कौर, लवप्रीत सिंह, सौरव घोषाल, गुरदीप सिंह, तेजस्विन शंकर, दिव्या काकरन, मोहित ग्रेवाल,जैस्मिन, पूजा गहलोत।

टेबल टेनिस के सेमीफाइनल में पहुंचे शरत कमल
शरत कमल टेबल टेनिस के मेंस सिंगल्स के सेमीफाइनल में पहुंचे। उन्होंने सिंगापुर के यंग आईजैक के खिलाफ 4-0 से जीत हासिल की है। शरत ने यह मुकाबला 11-6, 11-7, 11-4, 11-7 के अंतर जीता।

Leave A Reply

Your email address will not be published.