आदिवासी छात्र संगठन की विद्यार्थी संवाद यात्रा का हुआ जोबट में भव्य स्वागत

0 55
ad

 

आदिवासी छात्र संगठन की विद्यार्थी संवाद यात्रा का हुआ जोबट में भव्य स्वागत

अलीराजपुर- आदिवासी छात्र संगठन (एसीएस) मध्यप्रदेश के तत्वाधान में निकाली जा रही विद्यार्थी संवाद यात्रा मंगलवार को अलीराजपुर पहुँची वहां टंट्या भील चैराहे पर आदिवासी छात्र संगठन के जिला अध्यक्ष विजय कनेश,विक्रम सिंह बामनिया एवं अरविंद कनेश के नेतृत्व में स्वागत किया गया।इस अवसर एसीएस पदाधिकारी दिनेश निनामा,आकास चौहान, देवा कनेश, राकेश वास्केला, लालू सस्तिया, वीरेंद्र, भुवान एवं राकेश आदि उपस्थित थे। उपस्थित छात्रों एवं युवाओं को प्रदेश उपाध्यक्ष महेश डामोर ने संबोधित किया।अलीराजपुर से यात्रा शाम 7 बजे जोबट पहुँची वहाँ टंट्या भील प्रतिमा पहुंची। जोबट में जिला पंचायत सदस्य श्रीमती रिंकुबाला-लालसिंह डावर सहित सभी ने मूर्ति गाता पर माल्यर्पण कर यात्रा में चल रहे सभी का भव्य स्वागत किया गया। ततपश्चात यात्रा में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्री प्रकाश बंडोड़,प्रदेश उपाध्यक्ष महेश जी डामोर,हमदिया रावत बड़वानी एसीएस अध्यक्ष ने भी उपस्थित विद्यार्थियों से सवांद किया और यात्रा के उद्देश्य के बारे में बताया,की यात्रा का उद्देश्य छात्रों की समस्याओं को सुनना और समस्याओं को एकजाई कर स्थानीय जिला कलेक्टर महोदय एवं माननीय मुख्यमंत्री जी से मिलकर ज्ञापन /आवेदन के माध्यम से समस्याओं का समाधन करवाया जाना है। जिस पर जोबट से श्री लालसिंह डावर ने कहा स्कूल कॉलेजो में समस्याएं तो अनेक है। जिसमे विद्यार्थी के साथ- साथ शिक्षकों की भी अनेक समस्याए है। जो गिनाई नही जा सकती हैं। लेकिन बात विद्यार्थियों की समस्याओं की हो रही है।जो कि एक शाला – एक परिसर हो जाने से कई छात्र स्कूल नही पहुच पा रहे हैं। वही जिस स्कूल में शाला संचालित होती थी। वह स्कूल खाली हो गयी और स्कूल के भवन खंडहर हो रहे हैं।दूसरी ओर शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्य मे लगाने से छात्रों की पढ़ाई बहुत प्रभावित होती है। जिसके कारण स्कूल का परीक्षा परिणाम भी बहुत खराब आता है। और रिजल्ट खराब होने की एवज में शिक्षकों को तमाम कार्रवाइयों का सामना करना पड़ता है। वही विषयवार शिक्षक नही है। दूसरी ओर छात्रों को संकाय वार विषय नही मिल पा रहे है। कभी खाते में आधार लिंक तो कभी केवाईसी के नाम पर आवास गृह की राशि ,छात्रवर्ती समय पर नही मिल प रही हैं, तीन साल से छात्रों को गणवेश एवं छात्रवर्ती नही मिली है।वही छात्रावासों में प्रोफ़ाइल की वजह से छात्रावास की राशि नही मिलती हैं,पानी और शौचालय की समस्याएं आये दिन बनी रहती है।जोबट महाविद्यालय की बात रखी जिसमे बाउंड्रीवाल नही है। खेल ग्राउंड तैयार नही है।,पीजी किये जाने की माग रखी।जोबट में कॉलेज में गल्स होस्टल नही है। वही जोबट कॉलेज के छात्रों की केवल 50 सीट स्वीकृत है। जिसे बढ़ाकर 200 की जाने को बात रखी। और अलीराजपूर जिले किसी भी ब्लॉक में दो महाविद्यालय की शीघ्र अवश्यकता बताया जो कि कृषि महाविद्यालय,/ एमबीबीएस कॉलेज यंहा के छात्रों को इंदौर भोपाल जाना पड़ता है। जिसके कारण लाखो रुपये खर्च होता है। जिसका भुगतान कर्ज लेकर मजदूरी कर छात्र चुकाते है। जिसमे भी नोकरी लगने की कोई गयरंटी नही क्योंकि सरकार अक्सर नोटिफिकेश जारी करती है। नोकरी के नाम फार्म ऑनलाइन करवाकर वैकेन्सी पेपर लिख के नाम से तो कभी पद बढ़ाने घटाने के नाम पर निरस्त कर देती है। जिसके पश्चात श्री मनोज वास्केले जी ने अपने विचार रखे कहा छात्र अपनी बात रखने में हमेसा झिझक रखते है। और हमारे हक की बात तक नही रख पाते। उन्हें उचित जानकारी हेतु उन्हें,लाइब्रेरी खोलकर स्कूल कॉलेज,सम्बंधित जानकारी देना चाहिए। इस अवसर पर श्री राजूसिंह डावर, अंतर जी रावत, गुलसिंह जी बनमनिया,रामसिंह जी चौहान,प्रदीप जी डुडवे, सुनील चौहान, विक्रम चौहान,,भारत चौहान, श्री राजू जी चोंगड,बिशन चौहान,नवल जी डावर, आदि उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.