कुक्षी में मतदान के बाद वार्डो में सन्नाटा,अब हार जीत के अंक गणित का गुणा भाग शुरू

0 107
ad

कुक्षी में मतदान के बाद वार्डो में सन्नाटा,अब हार जीत के अंक गणित का गुणा भाग शुरू

 

भाजपा और कांग्रेस के नेताओ ने 11 -11 पार्षदों के जितने का दावा किया है

कुक्षी। मतदान के बाद अब कूक्षी के वार्डो में सन्नाटा पसरा हुआ है।बीते 10 दिनों से उन्ही वार्डो में इतनी चहल-पहल थी कि जैसे कोई बड़े आयोजन चल रहे थे।सुबह से देर रात्रि तक मतदातों की मानमनुहार के साथ चाय-नाश्तों के दौर के साथ अच्छे- बुरे यवहार सबकुछ बदल गया था और यही दिन चर्या कल शुक्रवार शाम पांच बजे तक कूक्षी के वार्डो में थी।देर शाम के बाद सिर्फ और सिर्फ सन्नाटा दिखाई दिया वही शनिवार को दिनभर परिणामो को लेकर कयासों के साथ हार जीत के अंक गणित भी लगते रहे उसके बावजूद यहाँ का मतदाता अभी तो पूरी तरह मोन नजर आ रहा है वही कुछ मतदाता व्यक्ति देखकर सबकी हा में हा करते भी नजर आ रहे है।

कूक्षी नगर परिषद की अध्यक्ष का ताज आरक्षित वर्ग की महिला के सिर होगा और वह भाग्यशाली महिला कोन होगी इस बात की राजनीतिक चर्चा भी अब होने लगी है सही तस्वीर तो 23 जनवरी की शाम तक ही स्पस्ट हो पाएगी।दूसरी ओर 15 वार्डो में मतदान भी जमकर हुआ है सबसे अधिक मतदान वार्ड 2 के मतदान केंद्र 3 पर 86.61 प्रतिशत हुआ है जिसे कूक्षी में यह वार्ड मुस्लिम मतदाता बाहुल्य है वही वार्ड 4 में 85 फीसदी मतदान हुआ और यह पाटीदार मतदाता बाहुल्य है वही सबसे कम मतदान वार्ड 5 के मतदान केंद्र 30 पर 50. 81 हुआ है यहाँ सभी वर्ग के मतदाता है।

 

कौन कितनी सीटे ला रहा है,कौन जीतेगा यह कयास शुरू हो गये

शनिवार को दिन भर दोनो ही प्रमुख दलों भाजपा और कांग्रेस में इस बात के मंथन चलते रहे कि उनके कितने पार्षद जीत रहे है।अंक गणित के साथ सभी वार्डो में हुए मतदान के प्रतिशत के साथ जोड़ बाकी का क्रम भी चलता रहा है।इस क्रम में 8 वार्डो पर चुनाव लड़ रही आप पार्टी और एक वार्ड में चुनाव लड़ रही जयस के साथ दो निर्दलीयों का जिक्र भी सबसे महत्वपूर्ण रहा कि आखिर आप,जयस ओर ये दोनों निर्दलीय किसका खेल बिगाडेंगे।कुल मिलाकर अभी तो कांग्रेस और भाजपा के बड़े नेतागण दोनो ही अपने -अपने दल को बहुमत मिलने के साथ 11-11 पार्षदों की जीत का दावा कर रहे है जबकि कुल वार्ड 15 ही है जिनमे से ही किसको कितने पार्षद मिलेंगे इसका खुलासा 23 जनवरी को दोपहर तक होगा।

 

इन बड़े नेताओं की प्रतिष्ठा परिणाम पर टिकी है

कुक्षी नगर परिषद चुनावो में दोनो दलों के बड़े नेताओं को चुनावी मैदान में उतारा गया इनमें भाजपा से रेलम चोहान,सुजीत बघेल,संजय सिर्वी,मनीष भावसार,लोकेश सरदार,मनीष सोनी,चेनसिंह,बाबू काग,विजय सितोले,सचिन भावसार,लक्ष्मण बघेल,के साथ यूसुफ अगवान की प्रतिष्ठा दांव पर है इन सभी ने स्वयं या इनके परिवारों ने चुनाव लड़ा है ।वही कांग्रेस से हरीश सेन,कनकमल सोनी,शब्बर बोहरा,वीरेंद्र गुप्ता,सहदेव पाटीदार,सवाई सिह बघेल,फिरोज मंसूरी,कुंदन मिस्त्री भी मैदान में या इनके भी परिवार से चुनाव लड़ रहे है। ऐसे में इन दोनों दलों के कोई 20 नेताओ के राजनीतिक भविष्य दाव पर लगे है।वही भाजपा के रमेश धाड़ीवाल, जयदीप पटेल,मुक़ामसिह किराड़े,वीरेंद्र बघेल तो कांग्रेस में हनि बघेल की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.